What is Operating System in hindi – 5 प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम

What is Operating System in hindi : ऑपरेटिंग सिस्टम एक तरह का सॉफ्टवेयर ही होता है।

एक यूजर के द्वारा कंप्यूटर पर परफॉर्म किए जाने वाले सभी टास्क और सॉफ्टवेयर तथा हार्डवेयर के मध्य कम्युनिकेशन ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा ही संभव हो पाता है।

What is Operating System in hindi

ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना कंप्यूटर किसी काम का नहीं है। ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा कौन-कौन से कार्य किए जाते हैं इसके बारे में मैं विस्तार से बताऊंगा।

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार

ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर खरीदते समय उसमें पहले से ही install आता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम को कभी भी अपग्रेड या चेंज किया जा सकता है। इससे कंप्यूटर खराब नहीं होता है। कंप्यूटर के अविष्कार के समय से लेकर आज तक बहुत प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम बनाये जा चुके है लेकिन मैं सिर्फ आपको मुख्य ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में ही बताऊंगा।

कंप्यूटर तथा मोबाइल में ऑपरेटिंग सिस्टम अलग-अलग प्रकार के होते हैं।

कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम

1. Microsoft ऑपरेटिंग सिस्टम

microsoft operating system
Microsoft operating system

माइक्रोसॉफ्ट विंडो “माइक्रोसॉफ्ट” कंपनी के द्वारा 1980 के आसपास लांच किया गया था।

माइक्रोसॉफ्ट विंडो के आज तक बहुत सारे वर्जन आ चुके हैं।

सबसे लेटेस्ट वर्जन Window 10 है इसके अलावा Window XP, Window 7, Window 8, Window 8.1 आदि पुराने वर्जन है।

माइक्रोसॉफ्ट विंडो पूरी दुनिया में सबसे अधिक यूज किया जाने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम है।

2. Mac ऑपरेटिंग सिस्टम

Mac OS “Apple” कंपनी के द्वारा बनाया गया ऑपरेटिंग सिस्टम है।

एप्पल कंपनी के कंप्यूटर में Mac ऑपरेटिंग सिस्टम ही इंस्टॉल किया जाता है।

Mac ऑपरेटिंग सिस्टम सिस्टम के भी बहुत सारी वर्जन है जैसे

Mojava, High Sierra, Sierra आदि।

Mac ऑपरेटिंग सिस्टम “माइक्रोसॉफ्ट विंडो” के बाद पूरे विश्व में सबसे ज्यादा यूज किए जाने वाला दूसरा ऑपरेटिंग सिस्टम है।

इसका मुख्य कारण है कि Apple कंपनी के प्रोडक्ट काफी महंगे होते हैं और MAC ऑपरेटिंग सिस्टम केवल Apple कंपनी के ही कंप्यूटर में यूज किया जाता है।

3. Linux ऑपरेटिंग सिस्टम

Linux operating system
Linux operating system

Linux ओपन सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसका मतलब यह है कि यह ऑपरेटिंग सिस्टम किसी भी व्यक्ति के द्वारा मॉडिफाई तथा डिस्ट्रीब्यूट किया जा सकता हैं Linux बिल्कुल फ्री ऑपरेटिंग सिस्टम है लेकिन इसे ऑपरेट करना थोड़ा मुश्किल होता है।

पूरी दुनिया में 2% से भी कम कंप्यूटर पर इस ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया जाता है।

मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम

मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम दो प्रकार के होते हैं।

  1. Android
  2. Apple iOS

1. Android

android operating system
android operating system

एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम गूगल कंपनी के द्वारा बनाया गया हैं।

एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम में एप्लीकेशन गूगल Play स्टोर से डाउनलोड किए जाते हैं।

2. Apple iOS

Iphone mobile operating system
Iphone mobile operating system

Apple iOS “एप्पल” कंपनी के ही मोबाइल में इंस्टॉल होता है।

एंड्राइड पर चलने वाले एप्लीकेशन एप्पल के ऑपरेटिंग सिस्टम पर नहीं चलते हैं दोनों पर एप्लीकेशन चलाने के लिए अलग-अलग प्रकार की प्रोग्रामिंग करनी पड़ती है।

ऑपरेटिंग सिस्टम के कार्य

जैसा कि मैंने आपको बताया एक यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा ही सॉफ्टवेयर तथा हार्डवेयर के साथ कम्युनिकेट कर सकता है। ऐसे कौन-कौन से कार्य हैं जो एक यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा कर सकता है चलिए जानते है।

1. Process मैनेजमेंट

कंप्यूटर एक साथ बहुत सारे टास्क परफॉर्म कर सकता है किस टास्क को पहले परफॉर्म करना है इसका निर्णय ऑपरेटिंग सिस्टम करता है।

CPU प्रत्येक टास्क की प्रायोरिटी डिसाइड करता है।

जानिए CPU कैसे काम करता है मैमोरी, कण्ट्रोल यूनिट और ALU क्या होते है

2. Device मैनेजमेंट

कंप्यूटर के अंदर तथा बाहर बहुत प्रकार की डिवाइसेज कनेक्ट कर सकते है।

इन सभी डिवाइसेज को सपोर्ट करना तथा इन पर कार्य करने के लिए यूजर की हेल्प करना ऑपरेटिंग सिस्टम ही करता है।

अगर इनमें से किसी भी डिवाइस में कोई खराबी आती है तो ऑपरेटिंग सिस्टम यूजर को वार्निंग दे देता है।

3. Memory मैनेजमेंट

कंप्यूटर में दो प्रकार की मेमोरी काम में ली जाती है RAM और ROM

कंप्यूटर की मेमोरी को दो भागों में बांटा गया है प्राइमरी तथा सेकेंडरी मेमोरी।

सभी प्रकार की मेमोरी के साथ कम्युनिकेट करना, फाइल्स को स्टोर करना, manipulate करना आदि काम ऑपरेटिंग सिस्टम ही करता है।

4. Security

कंप्यूटर पर बहुत प्रकार का डाटा सुरक्षित रखा जाता है।

जब कोई व्यक्ति कंप्यूटर चालू करता है तो ऑपरेटिंग सिस्टम उससे पासवर्ड पूछता है पासवर्ड सही होने पर ही यूजर लॉगइन कर सकता है।

इसके अलावा वायरस के खतरे से भी बचने के लिए बहुत सारे एंटीवायरस ऑपरेटिंग सिस्टम पर इंस्टॉल किए जा सकते हैं।

5. File मैनेजमेंट

कंप्यूटर पर बहुत प्रकार के डॉक्यूमेंट, फाइल, पीडीएफ, इमेज स्टोर किए जाते हैं।

इन सभी फाइल को अपडेट करने, डिलीट करने, नई फाइल क्रिएट करने का ऑप्शन ऑपरेटिंग सिस्टम देता है।

इन फाइल्स को आप कॉपी पेस्ट करके एक स्थान से दूसरे स्थान पर भी ले जा सकते हैं।

6. आउटपुट Controller

डिजिटल कंप्यूटर केवल दो ही नंबर पर कार्य करता है। मतलब प्रत्येक कार्य मेमोरी में 0 और 1 के रूप में ही परफॉर्म किया जाता है। पढ़िए कंप्यूटर कितने प्रकार का होता है

लेकिन कंप्यूटर यूजर को आउटपुट अलग-अलग फॉर्म में दिखाता है। जैसे ऑडियो के रूप में, वीडियो के रूप, इमेज के रूप में, पीडीएफ फाइल के रूप में आदि।

7. Communicator between User and Software

ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा ही यूजर कंप्यूटर में इंस्टॉल सॉफ्टवेयर पर कार्य कर सकता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर तथा हार्डवेयर के बीच कम्युनिकेटर का कार्य करता है।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में मैंने आपको What is Operating System in hindi के बारे में विस्तार से जानकारी दी है।

कंप्यूटर अपने आप में बहुत बड़ा सब्जेक्ट है इसे सीखने में थोड़ा समय लगता है।

इस ब्लॉग पर आपको कंप्यूटर से सम्बंधित बहुत सारी जानकारी मिलेगी।

कंप्यूटर क्या है What is computer in hindi

कंप्यूटर कीबोर्ड के बारे में सम्पूर्ण जानकारी

सॉफ्टवेयर क्या होता है

CPU क्या होता है और कैसे काम करता है

हार्डवेयर क्या है What is hardware in hindi

सुपर कंप्यूटर क्या होता है और कैसे काम करता है

कंप्यूटर के क्या क्या उपयोग है – 10 क्षेत्रों में कंप्यूटर के उपयोग

हाइब्रिड कंप्यूटर क्या होता है हाइब्रिड के प्रकार

Parts of computer in hindi – 21 Parts फोटो सहित जानकारी

Share

One thought on “What is Operating System in hindi – 5 प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow Us

Follow us on Facebook
error: Content is protected !!