स्वाधिष्ठान चक्र : लोकेशन, हीलिंग, मुद्रा, मैडिटेशन, बैलेंस करने का तरीका

अगर आपका जीवन में कोई लक्ष्य नहीं है और आप अपना जीवन लक्ष्य खोजना चाहते है, तो आपको अपना स्वाधिष्ठान चक्र बैलेंस करना पड़ेगा। इस आर्टिकल में मैं आपको उन सभी तरीकों के बारे में बताऊंगा जिनसे आप जान पाएंगे कि अपने स्वाधिष्ठान चक्र को बैलेंस कैसे करें  

स्वाधिष्ठान चक्र को बैलेंस करने के निम्न तरीके हैं

  • चक्र ध्यान और मूल मंत्र जाप के द्वारा
  • निश्चित फ्रीक्वेंसी म्यूजिक के द्वारा
  • Crystal थेरेपी के द्वारा
  • Oil थेरेपी के द्वारा
  • पॉजिटिव affirmation के द्वारा
  • हाथों की विशेष मुद्रा के द्वारा
  • एक्यूप्रेशर पॉइंट के द्वारा
  • Color थेरेपी के द्वारा
  • योगा और एक्सरसाइज के द्वारा
  • फ़ूड थेरेपी के द्वारा

इन सभी तरीकों के बारे में मैं आगे आपको विस्तार से बताऊंगा। लेकिन उससे पहले हम स्वाधिष्ठान चक्र के बैलेंस होने के फायदे तथा इस चक्र से जुड़े हुए अंगों के बारे में जान लेते है।

स्वाधिष्ठान चक्र

sacral chakra
स्वाधिष्ठान चक्र

स्वाधिष्ठान चक्र का रंग – ऑरेंज

शरीर में कहां स्थित होता है (स्वाधिष्ठान चक्र की लोकेशन) – नाभि के 2 इंच नीचे

स्वाधिष्ठान चक्र बैलेंस होने के फायदे

हमारे शरीर में 7 चक्र होते है प्रत्येक चक्र के बैलेंस होने के अलग-अलग फायदे होते है आपको इनके बारे में जानकारी होनी चाहिए।

  • हमेशा खुशी महसूस करना और अच्छे इमोशन होना
  • लोगों से मिलना-जुलना अच्छा लगेगा
  • आत्मविश्वास अच्छा होगा
  • समाज के लोगों के साथ मिलजुलकर रहेंगे
  • आप अपने आपको आजाद महसूस करेंगे
  • जीवन में एक लक्ष्य होगा
  • लोगों कि भीड़ से अलग दिखने की चाहत होगी
  • अच्छे खान-पान तथा नए वस्त्रों में रुचि होगी
  • अपनी रूचि के अनुसार कार्य करेंगे

स्वाधिष्ठान चक्र imbalance होने पर होने वाली समस्याएं

शारीरिक समस्याएं

  • पेशाब से संबंधित समस्याएं
  • निसंतानता, शुक्राणु का कम होने कि समस्या
  • एलर्जी और अस्थमा की समस्या हो सकती है
  • पेट से संबंधित समस्याएं

मानसिक तथा भावनात्मक समस्याएं

  • नशा करने का मन करना, ड्रग्स लेना आदि
  • बिना किसी बात के चिंता करना, तनावग्रस्त होना
  • खुद के प्रति नफरत पैदा होना
  • नेगेटिव सोच होना
  • आपके अंदर की क्रिएटिविटी खत्म हो जाना
  • सेक्सुअलिटी से संबंधित नेगेटिव विचार आना

शारीरिक अंग जो स्वाधिष्ठान चक्र से जुड़े होते हैं

सेक्सुअल ऑर्गन, लिवर, किडनी, पेनक्रियाज, एड्रिनल ग्रंथि, रीड की हड्डी का मध्य हिस्सा आदि।

नोट : अगर आपको ऊपर बताई गई समस्याओं में से कोई समस्या हैं तो इसका मतलब है कि आपका स्वाधिष्ठान चक्र बैलेंस नही है।

स्वाधिष्ठान चक्र को बैलेंस करने के 10 तरीके

स्वाधिष्ठान चक्र को बैलेंस करने की बहुत सारे तरीके हैं। आप सभी तरीके एक साथ आजमा सकते हैं इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है। आपको लगभग 15 दिनों में इसका प्रभाव महसूस होने लगेगा।

1. स्वाधिष्ठान चक्र मैडिटेशन तथा मूल मंत्र जाप

आपको सुबह तथा शाम को ध्यान लगाकर मूल मंत्र का जाप करना होगा। ध्यान लगाने के लिए जमीन पर कपड़े बिछाकर आराम से बैठ जाए।

स्वाधिष्ठान चक्र का मंत्र है “वं” (VAM) जिस प्रकार “ओम मंत्र” का उच्चारण करते हैं उसी प्रकार “वं” मंत्र का उच्चारण करना है। जैसे V-A-A-A-A-M

रोजाना इस मंत्र का 21 बार जाप करना है।

2. साउंड थेरेपी के द्वारा

प्रत्येक चक्र को बैलेंस करने के लिए अलग-अलग प्रकार के साउंड का इस्तेमाल किया जाता है। स्वाधिष्ठान चक्र को बैलेंस करने के लिए साउंड की फ्रीक्वेंसी 417 Hz होनी चाहिए।

आपको स्वाधिष्ठान चक्र साउंड थेरेपी का ऑडियो यूट्यूब पर मिल जाएगा। आप सुबह तथा शाम 10 से 15 मिनट तक ध्यान करते समय इसे सुन सकते हैं।

3. क्रिस्टल थेरेपी के द्वारा

स्वाधिष्ठान चक्र को बैलेंस करने के लिए कुछ विशेष प्रकार के क्रिस्टल को हाथ या गले में पहना जाता है। यह क्रिस्टल विशेष प्रकार की एनर्जी को स्टोर करके हमारे शरीर में ट्रांसफर करते हैं।

स्वाधिष्ठान चक्र क्रिस्टल
स्वाधिष्ठान चक्र क्रिस्टल

स्वाधिष्ठान चक्र को बैलेंस करने वाले क्रिस्टल के नाम है। ये सभी क्रिस्टल आपको ऑनलाइन या मार्केट में मिल जाएंगे

Carnelian Crystal, Peach Moonstone, Orange Aventurine, Orange Calcite crystal etc.

4. ऑयल थेरेपी के द्वारा

स्वाधिष्ठान चक्र को बैलेंस करने के लिए ऑयल थेरेपी भी की जाती है।

आपको इन ऑयल में से कोई भी एक या एक से अधिक ऑयल को अपने स्वाधिष्ठान चक्र के ऊपर लगाना होता है। ऑयल थेरेपी आप सुबह नहाने के बाद तथा रात को सोने से पहले कर सकते हैं।

Sacral चक्र को बैलेंस करने के लिए निम्न ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है। ये सभी ऑयल आपको ऑनलाइन मिल जाएंगे जहां से आप आर्डर करके इन्हें मंगवा सकते हैं।

Sandal Wood Oil, Ylang Ylang Oil, Clary Sage Oil, Jasmine Oil, Orange Oil, Bergamot Oil, Rosewood Oil, etc.

5. स्वाधिष्ठान चक्र पॉजिटिव Affirmation

पॉजिटिव एफर्मेशंस पॉजिटिव विचार होते हैं। जिन्हें सुबह तथा शाम को मन ही मन में खुद से बोलने होते हैं। जैसे

  • मेरी भावनाएं संतुलित है।
  • मैं भीतर से शांति महसूस करता हूं।
  • मैं एक रचनात्मक प्राणी हूं।
  • मैं नशीले पदार्थों से हमेशा दूर रहता हूं।
  • मैं एक पवित्र प्राणी हूं।
  • मैं अपने शरीर में सहज हूं।

6. स्वाधिष्ठान चक्र मुद्रा थेरेपी

Sacral चक्र को बैलेंस करने के लिए ध्यान तथा मंत्र उच्चारण के दौरान एक विशेष मुद्रा में बैठा जाता है।

ध्यान करते समय अपने हाथों को अपनी गोद में रखें। बाएं हाथ की हथेली पर दाएं हाथ की हथेली को रखें। दोनों हथेलियों के मुख् आकाश की तरफ होने चाहिए।

स्वाधिष्ठान चक्र को बैलेंस कैसे करें
स्वाधिष्ठान चक्र मुद्रा

7. स्वाधिष्ठान चक्र एक्यूप्रेशर पॉइंट

फोटो में दिखाए गये पॉइंट को दबाकर आप अपने Sacral चक्र को बैलेंस कर सकते हैं। ये पॉइंट दोनों हाथो में एक ही जगह पर होते है। आप रोजाना 5 से 10 मिनट एक्यूप्रेशर कर सकते है।

स्वाधिष्ठान चक्र एक्यूप्रेशर पॉइंट
स्वाधिष्ठान चक्र एक्यूप्रेशर पॉइंट (उपर फोटो में मूलाधार चक्र गलती से प्रिंट हो गया)

8. कलर थैरेपी के द्वारा

Sacral चक्र का रंग ऑरेंज होता है। इस चक्र को बैलेंस करने के लिए आप ज्यादा से ज्यादा ऑरेंज रंग का इस्तेमाल करें।

आपको ऑरेंज रंग के कपड़े पहनने चाहिए।

ऑरेंज रंग की कांच की बोतल में पानी डालकर सूर्य की रोशनी में रख दें तथा उस पानी को पिए।

अपने कमरा तथा जरूरी सामान भी ऑरेंज रंग का रखे।

9. स्वाधिष्ठान चक्र योगा तथा एक्सरसाइज

Sacral चक्र को बैलेंस करने के लिए निम्न योगासन कर सकते हैं।

वज्रासन, Frog pose, Garland Pose, Goddess Pose, Warrior Pose, COBRS Pose, Bow Pose etc.

10. फूड थेरेपी के द्वारा

ज्यादा से ज्यादा ऑरेंज रंग वाले पर फल-फूट खाए जैसे संतरा, मक्की की रोटी आदि।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में आपने पढ़ा स्वाधिष्ठान चक्र की लोकेशन, हीलिंग, मुद्रा, मैडिटेशन, बैलेंस करने का तरीका क्या है

अगर आपका जीवन में कोई लक्ष्य नही है तो इसका मतलब है कि आपका यह चक्र imbalance है। अपने Sacral चक्र को बैलेंस करें यह चक्र आपको आपका जीवन लक्ष्य खोजने में मदद करेगा।

7 चक्र क्या होते है इनके बैलेंस होने के फायदे

अपने स्वास्थ्य को ठीक रखने के लिए मूलाधार चक्र को कैसे बैलेंस करें

मैडिटेशन क्या है मैडिटेशन करने के 4 तरीके

5 वर्षो के मैडिटेशन के मेरे अनुभव

अपने दिमाग को कण्ट्रोल करने के 10 तरीके

Share

3 thoughts on “स्वाधिष्ठान चक्र : लोकेशन, हीलिंग, मुद्रा, मैडिटेशन, बैलेंस करने का तरीका

  • at
    Permalink

    You are doing Great Work! Keep it doing .
    Always try to give you Best..

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow Us

Follow us on Facebook
error: Content is protected !!