BPO full form in hindi | BPO फुल फॉर्म

BPO full form in hindi : BPO जॉब पाने का आसान रास्ता है communication skills. Communication skill सफलता की चाबी है। क्या आप चाहते है कि यह चाबी आपके पास हो? चाहे कोई भी काम हो सफलता के लिए आपको एक अच्छा वक्ता (बोलने वाला) बनना पड़ेगा।

मैं आपको यह बताऊंगा कि कैसे एक BPO की job आपकी communication skills सुधार सकती है और आपको दूसरों से कैसे अलग बना सकती है।       

BPO की फुल फॉर्म | BPO full form in hindi

BPO full form in hindi होती है: “Business Process Outsourcing”

BPO के फायदे

सीनियर (10+2) पास करके भी आप जॉब आराम से हासिल कर सकते है। कुछ कंपनी सिर्फ 10 क्लास पास को भी जॉब दे देती है।

आपको किसी फील्ड में expert बनने की जरुरत नहीं है बस थोड़ा सा communication skill अच्छा होना चाहिए। आपको जॉब आसानी से मिल जाती है। 

आपका communication skill सुधारने के लिए आपको training दी जाती है।

आपको अच्छा environment मिलता है अपना communication सुधारने के लिए। 

कुछ कंपनी में आपको pic and drop कि facility भी मिलती है।

Communication skills

  1. एक मशहूर बिजनेसमैन रिचर्ड ब्रैनसन ने कहा है कि “प्रभावी रूप से संवाद करने में सक्षम होना आपको दूसरों से अलग करता है”। Communication skills के कुछ फायदे मैं आपको बताता हूँ। 
  2. आप अगर एक अच्छे वक्ता है तो लोग आपको अपने नेता के रुप में चुनना पसंद करते है। उदाहरण के तौर पर आप भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी को ही देख लीजिए।
  3. जब आप बोलेंगे तो सुनने वाले के कानों को शांति मिलेंगी और लोगों का आप पर विश्वास पैदा होगा।  
  4. आपका आत्मविश्वास सातवें आसमान पर होगा।
  5. आप दूसरों की बातों को ध्यान से सुनेंगे जिस कारण लोग आपसे बात करना पसंद करेंगे।
  6. ज्यादातर झगड़े आपसी गलतफहमी के कारण होते है। केवल एक अच्छी communication वाला व्यक्ति ही उन गलतफहमीयों को दूर कर सकता है।
  7. आप अपने व्यवसाय में तरक्की करेंगे और समाज में नाम करेंगे।
  8. Communication skills आप बहुत तरह से सुधार सकते है। लेकिन सबसे best तरीका है आप BPO में job करके अपने communication skill को सुधारे।
  9. क्योंकि वहां आपको एक professional environment (वातावरण) मिलता है। आपको expert के साथ काम करने का मौका मिलता है।

BPO कंपनी के प्रकार

BPO company दो प्रकार की होती है।

  1. National BPO (जो अपने देश में काम करें)
  2. International BPO (जो अपनी सेवायें विदेश में देती है)

1. National(Domestic) BPO

National BPO company अपनी सेवाएं सिर्फ देश के अंदर ही देती है। जैसे Airtel, idea, Jio, BSNL इन companies के call centre सिर्फ अपने देश में ही काम करते है दूसरे देश में नहीं।

National BPO companies में हिंदी, अंग्रेजी, तमिल, कन्नड़ आदि देशी भाषाओ में काम होता है।

2. International BPO company

International BPO company में विदेशी customer के साथ deal करना पड़ता है। जैसे कोई कंपनी अपना product विदेश में बेचती है तो उस देश के लोगों को उस प्रोडक्ट से related customer support देने का काम करना होता है।

International company में customer के साथ english भाषा में बात करनी पड़ती है। जैसे USA, UK, Australia आदि।

जिस देश के लोगों के साथ कंपनी अपना काम करती है तो उन्हें उस देश के language accent में बात करनी होगी।

BPO में क्या-क्या काम होता है?

BPO में काम को दो भागों में बांटा जा सकता है।

1. Voice Process/Support (Technical)

  • (i). Inbound process/support 
  • (ii). Outbound process/support

2. Non Voice Process/Support (Non-technical)

1. Voice Process/Support (Technical)

Voice process में दो तरह का काम होता है Inbound और Outbound

(i) Inbound process/support 

I nbound प्रोसेस में customer call करता है। customer care के पास जैसे आप phone करते है Jio, Airtel, Idea customer care के पास कोई प्लान या अन्य जानकारी के लिए।   

Inbound प्रोसेस में निम्नलिखित काम करना होता है

Inbound process/support किसी software से सम्बंधित हो सकता है या फिर किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे मोबाइल, लैपटॉप, टेबलेट आदि।   

Inbound supporter का काम फोन call पर user की problems को समझना और उनका समाधान करना होता है।

Voice call पर User की problem software/डिवाइस से सबंधित कुछ भी हो सकती है। जैसे installation problem, Not working properly और कोई भी error आ जाना।

User अगर यह नहीं समझ पता है कि यह सॉफ्टवेयर/डिवाइस कैसे काम करता है तो आपको उसे complete process को समझाना होगा।      

Inbound supporter को निम्न कार्यों के बारे में knowledge होना चाहिए।

Verbal communication (मौखिक संवाद)

Problem को समझने वाला और जल्दी से solve करने वाला होना चाहिए।

Help desk अनुभव होना चाहिए।

Operating सिस्टम का ज्ञान, LAN सर्विस का ज्ञान, customer सर्विस का ज्ञान होना चाहिए।

फोन पर बात करने की skills होनी चाहिए।

Inbound Voice सपोर्ट में निम्नलिखित problem को भी solve करना होता है।

कंप्यूटर storage डिवाइस से सम्बंधित problem

एंटीवायरस से सम्बंधित problem

Operating System से सम्बंधित problem

Database से सम्बंधित problem 

किसी भी type के apps सम्बंधित problem

(ii) Outbound process/support

Outbound प्रोसेस में आपको customer को call करना होता है। इसमें बहुत तरह के काम होते है। जैसे

आपको किसी भी एक देश के (जो आपकी कंपनी निश्चित करती है) लोगों को फ़ोन करके किसी product के बारे में जानकारी देना होता है और उस product को बेचना होता है। 

इस काम में सबसे ज्यादा पैसा मिलता है क्योंकि फोन पर लोगों को product बेचने के लिए आपकी sailing skills बहुत अच्छी होनी चाहिए।

प्रत्येक product बेचने पर आपको एक निश्चित discount मिलता है। अगर आप product बेचने की कला सिख गए तो आप जिंदगी में अनगिनत पैसा कमा सकते है।

इसके अलावा आपको किसी संस्था/NGO के लिए fund raise (डोनेशन) इकट्ठा करने के लिए भी लोगों के पास call करना पड़ सकता है।

आपको कंपनी का कोई survey (सर्वेक्षण) करने के लिए भी customer को फोन करना पड़ता है।

इसके अलावा किसी कंपनी के customer का verification करने के लिए भी customer को call करना पड़ता है।

अगर कोई customer किसी telecom (मोबाइल कंपनी) का बिल का भुगतान नहीं करता है तो उसको remind करने के लिए उसको फोन करना।

सभी bank अपने customer को phone करके credit card लेने की request करते है और credit card के offers की जानकारी देते है।

Outsourcing क्या होता है?

BPO full form in hindi क्या होती है इसके साथ आपको यह भी पता होना चाहिए की outsourcing क्या होती है

जब एक कंपनी अपना कोई काम खुद ना करके दूसरी कंपनी से करवाती है और बदले में उसे रुपए देती है, तो उस प्रक्रिया को outsourcing कहते है।

जैसे : माना कोई कंपनी A क्रिकेट के बेट बनाती है लेकिन उस बेट को बेचने के लिए उसकी मार्केटिंग करनी होगी तथा एक दूसरी कंपनी B है जिसका काम सिर्फ मार्केटिंग करना है तो कंपनी A, कंपनी B से अपने बेट मार्केटिंग करवाएगी बदले में उसे रुपए दे देगी, इस प्रक्रिया को outsourcing कहते है।   

Outsourcing करना क्यों जरुरी होता है?

किसी भी प्रोडक्ट को बनाने से लेकर customer तक पहुंचाने तक एक कंपनी को बहुत सारे stages से गुजरना होता है। जैसे : पहले चक्का माल खरीदना, फिर उससे प्रोडक्ट बनाना, फिर उसकी Testing करना, फिर उस product को market में launch करना, फिर उसकी marketing करना, फिर उसकी shop पर delivery करना, फिर customer को कोई problem आये तो उसे solve करना आदि। एक कंपनी के लिए यह सारे काम करना बहुत मुश्किल होता है। इसलिए कंपनी outsourcing का सहारा लेती है।

Outsourcing process के प्रकार

  • EPO – Engineering Process Outsourcing
  • ITO – Information Technology Outsourcing
  • KPO – Knowledge process outsourcing
  • LPO – Legal process outsourcing
  • RPO – Recruitment process outsourcing

Outsourcing के फायदे क्या है?

कंपनी को अपने core product पर फोकस करने का समय मिलता है। जिसका इस्तेमाल वह उस product को और अच्छा बनाने में लगाती है।

जिस कंपनी से outsourcing करवाती है, वह उस field में master होती है। उसके सही काम करने और सफल होने के चान्सेस ज्यादा होते है।

Outsourcing कंपनी पर काम का दबाव रहता है कि अच्छा काम करने पर ही हमें आगे काम मिलेगा वरना वो अपना काम दूसरी कंपनी को दे देंगे।

Outsourcing कौन-कौन से काम की करवायी जा सकती है?

एक कंपनी बहुत से कार्यों की outsourcing करवा सकती है जैसे –

  • Customer service (such as technical support, help desk etc)
  • Telemarketing (outbound calls to existing prospect customer)
  • Online marketing (content production, SEO etc)
  • Accounting/HR management
  • Back office support

2. Non Voice Process/Support (Non-technical)

Non voice process में customer के साथ phone पर बात नहीं करनी होती है। इसके आलावा company में और भी बहुत सारे काम होते है जिनको करना पड़ता है जिनमें से कुछ निम्नलिखित है।

किसी भी company में customer की संख्या करोड़ो में होती है इसलिए सभी को phone करना संभव नहीं है। इसलिए जिन लोगो की E-mail id company के पास होती है company उनको mail भेजती करती है।

कुछ कंपनी अपना product बहुत सारे देशो में बेचती है तो कुछ देशों के लोग सिर्फ chat करके ही अपनी problem को दूर करना चाहते है इसलिए कंपनी customer के साथ chat करके उनकी समस्या दूर करती है।

इसके अलावा कंपनी में और भी बहुत सारे काम होते है जैसे document तैयार करना, कोई नया नोटिस तैयार करना, कंपनी के employee की सैलरी को handle करना, MS Excel में कोई list तैयार करना आदि।

Which job is better Voice process or Non voice process (कौनसी जॉब बेहतर है Voice or Non-voice)

क्रमांक Voice process(टेलीफोनिक) Non voice process
1 अगर आपका communication skill अच्छा है तो आपको voice process में जाना चाहिए। अगर आपका writing skill अच्छी है तो आपको Non-voice process में जाना चाहिए।
2 Voice process में ज्यादा पैसा मिलता है। Non-Voice process में कम पैसा मिलता है।
3 Voice process में ज्यादा बोलना पड़ता है। Non-Voice process में कम बोलना पड़ता है।
4 Voice process में काम का presser ज्यादा होता है। Non-Voice process में काम का presser कम होता है।
5 Voice process में काम के बीच में आराम बहुत कम मिलता है। Non-Voice process में काम के बीच में ब्रेक ज्यादा मिलता है।
6 Voice process में आपको सीखने को बहुत कुछ मिलता है। Non-Voice process में सीखने को बहुत ज्यादा नहीं मिलता है। 

Market में बहुत सारी BPO कंपनी है कुछ top BPO कंपनी के नाम मैं आपको बता रहा हूँ। जैसे

  • IBM
  • Cognizant
  • TCS
  • Dell
  • Genpact
  • Tech Mahindra
  • Matica solution
  • Convergys India services
  • India bulls technology solutions Ltd
  • Amadeus India ltd
  • Quatrro global services ltd
  • Innovazion research pvt ltd

कंपनी में दो तरह के काम होता है

(i) Back end process

Back end प्रोसेस में सिलेक्शन के लिए आपकी grammar चेक की जाती है।

Back end में आपको customer को E-mail भेजना होता है या आपको live chat करना होता है customer की समस्या को solve करने के लिए।

Back end interview में आपसे written टेस्ट भी लिया जाता है जिससे आपकी English check कर सके।

(ii) Voice process

इस जॉब के लिए आपका communication थोड़ा अच्छा होना चाहिए।

आपका selection होने के बाद आपकी इंग्लिश सुधारने के लिए आपको 1-3 महीने की ट्रेनिंग दी जाती है। 

USA, UK and Australia के customer के साथ deal करने के लिए आपका accent अलग-अलग होना चाहिए।

इंटरव्यू में पूछे जाने वाले question नीचे दिए गए है।     

BPO Interview Questions and Answers :

Q. Tell me about yourself? (अपने बारे में कुछ बताईये)

Ans. आपको अपना नाम, आप किस शहर से है, आपकी आयु क्या है, आपका family background क्या है, किस क्षेत्र में ग्रेजुएशन किया है आदि।

Q. आपका qualification क्या है?

Ans. आपके पास जो डिग्री है उसके बारे में बताए और उसके आलावा कोई और भी स्किल है तो वो भी बताए।

Q. आपकी hobbies क्या-क्या है?

Ans. अपनी hobbies ऐसी बताए जो कंपनी के काम में आपको help करे, ना कि music सुनना और movie देखना इनका कंपनी फायदा नहीं होने वाला।    

Q. हम आपको सेलेक्ट क्यों करें?

Ans. आपको जवाब देना है कि सर मैं इस कंपनी में होने वाले सारे कार्यों से परिचित हूँ और मेरे में वो सारी quality है जिनकी इस कंपनी को requirement है। मैं दिन और रात की किसी भी शिफ्ट में काम कर सकता हूँ। मैं customer को अच्छे से हैंडल कर सकता हूँ और बाकि आप अपनी समझ के हिसाब से उतर दे।

Q. BPO full form in hindi क्या होती है?

Ans. Full form of BPO is “Business Process Outsourcing”

Q. अपने कोई achievement (उपलब्धि) के बारे में बताये?

Ans. आपने अपनी लाइफ में जो कुछ भी achieve किया है जैसे किसी sports में मैडल, किसी प्रतियोगिता में कोई ईनाम या फिर कोई नेशनल लेवल पर मैडल आदि।

Q. अपनी लाइफ के किसी embarrassing moment (शर्मनाक पल) के बारे में बताये?

Ans. अपने आधार पर उत्तर दे।

Q. आपने अपना पिछला सप्ताह कैसे बिताया उसके बारे में बताये?

Ans. दरअसल interviewer आपका communication स्किल चेक करना चाहता है। आपने पिछले सप्ताह में जो भी कार्य किया उसका वर्णन past tense में करे।

Q. अगर आपके पास किसी annoyed (परेशान) व्यक्ति का call आ जाये तो आप उसको कैसे handle करोगे?

Ans. सबसे पहले हम उस व्यक्ति को शांति से अपनी बात समझाने को बोलेंगे उसके बाद हम उसकी problem को समझकर उसका समाधान करेंगे और कंपनी के product में कोई गड़बड़ है तो उसको जल्दी से जल्दी ठीक करने का आश्वासन देंगे।

Q. अगर customer आपसे किसी product के बारे में depth में कोई ऐसा सवाल पूछ ले जिसका आपके पास कोई जवाब नहीं है तो आप क्या करेंगे?

Ans. तो आपको जवाब देना है कि सर, मैं आपका call मेरे senior के पास transfer कर रहा हूँ क्योंकि वो इस product के एक्सपर्ट है और अगली बार ऐसा न हो उसके लिए मैं उस product के बारे में पूरी जानकारी हासिल करूँगा। 

Q. अपनी कोई 3/5 strength (ताकत) बताओ?

Ans. आपको बताना है कि आप under presser में बेहतरीन काम कर सकते है, लगातार कई घंटो तक काम कर सकते है, आप अपने काम के प्रति समर्पित है, पूरी लगन से काम करते है, लोगों से बात करना और उनकी problems को दूर करना आपको अच्छा लगता है।        

Q. अपनी कोई 3/5 weakness (कमजोरी) बताओ?

Ans. आपको एकदम साधारण कमजोरी बतानी है, जिनका कंपनी पर कोई असर न पड़े जैसे आपकी handwriting थोड़ी ख़राब है, आप को सर्दियों में नहाना पसंद नहीं है, आपको कोल्ड drink पीना ज्यादा पसंद है  और भी आप जोड़ सकते है।   

Q. क्या आप हिंदी और इंलिश दोनों भाषाओ में comfortable है?

 Ans. आपको हा में जवाब देना है।

Q. आपको कितनी सैलरी चाहिए?

Ans. कंपनी इंटरव्यू लेने से पहले ही सैलरी decide कर देती है लेकिन interviewer आपको जांचने के लिए पूछ सकता है। आपको जवाब देना है कि कंपनी के norms के मुताबित जितनी सैलरी है उतनी ही चाहिए।

Q. अगर आपके सीनियर आपको office में सपोर्ट न करे तो आप क्या करेंगे?

Ans. अपने आधार पर उतर दे।

Q. अगर आज आपका selection (चयन) नहीं होता है तो आप क्या करेंगे?

Ans. अगर मेरा आज सिलेक्शन नहीं होता है तो मैं आज के इस interview को review करूँगा और कमियों को ढूढ़ने और उनको दूर करने की कोशिश करूँगा और फिर अगली बार इससे भी अच्छा perform करूँगा।    

Q. अगर आपकी posting किसी दूसरे शहर में हो जाये तो क्या वहां जाना पसंद करेंगे?

Ans. इंटरव्यू से पहले ही यह निश्चित हो जाता है कि job कि पोस्टिंग कहाँ होगी ऐसा बहुत कम होता है कि posting चेंज हो Interviewer आपको घूमाने और डराने के लिए पूछ सकता है, लेकिन आपको हा में जवाब देना है।     

Q. क्या आप night shift में काम कर सकते है?

Ans. आपको हा कहना है क्योकि ज्यादातर इंटरनेशनल BPO job में night शिफ्ट में ही काम होता है क्योंकि जब इंडिया में night होती है तो वह दिन होता है।     

Q. क्या आपको MS Excel में काम करना आता है?

Ans. आपको MS एक्सेल, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस और कंप्यूटर का basic knowledge होना चाहिए क्योंकि कंपनी में थोड़ा बहुत काम इन सब से सबंधित भी होता है।  

Q. अगर आपके पास कोई prank call आये और वो सिर्फ आपके मजे लेने के लिए ही कॉल करे तो आप उसको कैसे handle करेंगे?

Ans. सबसे पहले तो आपको उससे कहना है कि सर शायद आपने गलत जगह पर call कर दिया है। फिर आप उससे पूछेंगे कि क्या आपको हमारे किसी product में problem है या आप उसके बारे में जानकारी लेना चाहते है अगर नहीं तो आप call को disconnect कर दे क्योंकि कंपनी के rules के मुताबित ऐसी बाते करना गलत है। 

Q. आपके long term goal क्या है?

Ans. अपने आधार पर उतर दे। 

Q. अगर मैं आपसे पूछना चाहता चाहूँ कि आपको क्या लगता है हमारा अंतिम question क्या होगा?

Ans. आपको जवाब देना है कि आपका अंतिम question होगा कि आप कब से company join कर सकते है।

मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको BPO full form in hindi का यह आर्टिकल पसंद आया होगा। आप हमारे और भी आर्टिकल पढ़ सकते है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow Us

Follow us on Facebook
error: Content is protected !!