Student ko kitne ghante sona chahiye – जानिए

Student ko kitne ghante sona chahiye : स्वस्थ शरीर के लिए प्रोटीन युक्त भोजन जीतना जरूरी है, स्वस्थ दिमाग के लिए अच्छी नींद भी उतनी ही जरूरी है।

अच्छी नींद का स्टूडेंट के दिमाग पर बहुत असर पड़ता है।

जब हम सो कर उठते हैं तो हमारा दिमाग तरोताजा महसूस करता है।

उस परिस्थिति में यह किसी भी बात को अच्छी तरह से समझ सकता है, पढ़ सकता है तथा सीख सकता है।

एक Student ko kitne ghante sona chahiye इस बारे में प्रत्येक टीचर तथा माता-पिता की अलग-अलग राय होती है।

लेकिन एक स्टूडेंट को कितने घंटे सोना चाहिए यह अच्छी तरह से वह स्टूडेंट ही बता सकता है चलिए जानते हैं कैसे?

पढ़े : Revision कैसे करे Revision करने का वैज्ञानिक तरीका

Student ko kitne ghante sona chahiye

एक Student ko kitne ghante sona chahiye इसका कोई निश्चित उत्तर नहीं है।

प्रत्येक स्टूडेंट तथा व्यक्ति का शरीर अलग-अलग होता है यह तो उसका शरीर ही बता सकता है कि उसे कितने घंटे सोना चाहिए।

लेकिन वैज्ञानिकों की मानें तो 3 से 5 साल तक के बच्चों को 11 से 13 घंटे तथा 6 से 15 साल तक के बच्चों को 8 से 11 घंटे की नींद लेनी चाहिए।

कैसे पता करें कि आपको कितने घंटे सोना चाहिए

राम और श्याम दोनों दोस्त हैं दोनों की उम्र 10 वर्ष है तथा दोनों 6 स्टैंडर्ड (क्लास) में पढ़ते हैं।

राम 9 घंटे सोता है जबकि शाम 11 घंटे सोता है।

राम और श्याम दोनों के शरीर की बनावट, दोनों का खाना तथा दोनों का वजन सब अलग-अलग है इसलिए नींद का समय भी अलग अलग होगा आप इसे बराबर नहीं कर सकते हैं।

आपको कितने घंटे सोना है इसका पता करने के लिए बिना अलार्म लगाएं सो जाएं।

जब सुबह आपकी आँख खुले और आप तरोताजा महसूस करें वही सही समय है आपको उतने ही घंटे सोना चाहिए।

चाहे इसमें 10, 11 या 12 घंटे लगे।

रोजाना आपको उतने ही घंटे सोना चाहिए।

इसमें 1 या 2 घंटे ऊपर नीचे हो सकता है।

पढ़े : पढाई करने का SQ3R फार्मूला क्या है

अच्छी नींद के फायदे

रात को सोते समय अगर आपकी एक भी बार आंख ना खुले तथा सुबह उठने के बाद आप तरोताजा महसूस करें तो उसे ही अच्छी या गहरी नींद कहते हैं

  • अच्छी नींद से आपका दिमाग रिलैक्स महसूस करता है।
  • अच्छी नींद से कम समय में आपकी नींद की पूर्ति हो जाती है।
  • रात को अच्छी नींद लेने से दिन में आलस्य नहीं होता है।
  • अच्छी नींद लेने से आप ज्यादा एनर्जेटिक महसूस करते हैं।
  • आपका पढ़ाई करने का मन लगता है।
  • आप अच्छे से चैप्टर याद कर पाते हैं।
  • अच्छी नींद से मन खुश रहता है।

अच्छी नींद कैसे लें

  • अच्छी नींद के लिए अच्छा खाना जरूरी है अगर आप हेल्दी खाना नहीं खाएंगे तो आपका पेट खराब हो जाएगा और आपको अच्छी नींद नहीं आएगी।
  • दिन में थोड़ा व्ययाम तथा खेलकूद करें।
  • शरीर में थकान जितनी ज्यादा होती है नींद उतनी ही अच्छी आती है।
  • रात को सोने से 2 घंटे पहले ही टीवी तथा मोबाइल से दूरी बना ले।
  • रात को सोने से पहले पढ़ाई कर सकते हैं अथवा मेडिटेशन कर सकते हैं।
  • रात को सोने के कम से कम 3 घंटे पहले खाना खा ले।
  • रात को सोने से पहले बाथरूम में जाकर आए तथा पर्याप्त मात्रा में पानी पी ले ताकि रात में आपको दोबारा ना उठना पड़े।
  • रात को सोने से पहले मेडिटेशनल म्यूजिक भी सुन सकते हैं।
  • आपके कमरे में ना ज्यादा ठंड होनी चाहिए और ना ही ज्यादा गर्मी जिसे आपकी नींद नहीं टूटेगी।

पढ़े : बुक के लम्बे आंसर को चुटकी में कैसे याद करें

कम नींद से होने वाले नुकसान

जैसा कि मैं आपको बता चुका हूं प्रत्येक बच्चे तथा व्यक्ति के सोने का टाइम अलग अलग होता है।

आप कभी भी दूसरे व्यक्ति को देखकर कम सोने का प्रयास ना करें वरना आपको बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

  • कम नींद लेने से दिनभर आलस्य बना रहता है।
  • आपका कोई भी काम करने का मन नहीं करता।
  • आपको सिर दर्द भी हो सकता है अथवा सिर भारी भारी लग सकता है।
  • कम नींद से बच्चों की सीखने की क्षमता कम हो जाती है।
  • उन्हें पढ़ा वह कुछ भी याद नहीं रहता।
  • लंबे समय तक कम नींद लेने से Insomnia बीमारी हो सकती है।
  • Insomnia होने के बाद व्यक्ति को नींद नहीं आती है।
  • कम नींद से दिमाग का विकास रुक जाता है तथा याददाश्त कमजोर हो जाती है।
  • इसलिए बच्चों को कभी भी कम सोने के लिए ना कहें।

रात को सोते समय हमारे शरीर में होने वाली क्रियाएं

रात को सोते समय हमारा Unconscious माइंड कार्य करने लगता है।

सोने के बाद हमारे शरीर के सभी निर्णय Unconscious माइंड करता है।

रात में सोने के बाद हमारे शरीर की अनैच्छिक क्रियाएं जैसे सांस लेना, खाने का पचना, दिल का धड़कना आदि चलती रहती है।

रात को सोने के बाद हम धीरे-धीरे दिन की बातों को भूलने लगते हैं।

सुबह तक हम उन सब बातों को भूल जाते हैं जो हमारे काम की नहीं है।

रात को सोने के बाद हमारा दिमाग अच्छी बातों को Unconscious माइंड में स्टोर करने लग जाता है।

निष्कर्ष

तो इस आर्टिकल में आपने जाना कि एक Student ko kitne ghante sona chahiye

प्रत्येक स्टूडेंट को पर्याप्त मात्रा में नींद लेनी चाहिए किसी दूसरे स्टूडेंट को फॉलो नहीं करना चाहिए।

स्टडी टिप्स से सम्बन्धित और भी अच्छी जानकारी आप इस ब्लॉग से पढ़ सकते है।   

नोट्स बनाने का सबसे बेहतरीन तरीका

पढाई करने का SQ3R फार्मूला क्या है

Revision कैसे करे Revision करने का वैज्ञानिक तरीका

बुक के लम्बे आंसर को चुटकी में कैसे याद करें

पढाई करने का सही समय क्या है सुबह, दिन या रात

स्टडी टेबल को कैसे सजाये ताकि आपका पढाई में मन लगे

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow Us

Follow us on Facebook
error: Content is protected !!