SDM की फुल फॉर्म क्या होती है

SDM एक PCS रैंक का अधिकारी होता है प्रत्येक जिले को तहसील में विभाजित किया जाता है और प्रत्येक तहसील में एक SDM होता है जो उसका सबसे बड़ा अधिकारी होता है।

तहसील में अंदर बहुत सारे ऑफिसर होते है जैसे टैक्स इंस्पेक्टर, पटवारी, कलेक्टर मजिस्ट्रेट आदि।

प्रत्येक तहसील में उस क्षेत्र के सभी लोगों की जमीन जायदाद, जाति समूह, वैवाहिक पंजीकरण, वोटर ID कार्ड आदि का रिकॉर्ड रखा जाता है और इन सभी रिकॉर्ड को मेन्टेन रखने कि जिम्मेदारी SDM की होती है।

SDM की फुल फॉर्म

SDM का फुल फॉर्म “Sub-Divisional Magistrate” होता है और हिंदी में SDM को “उप प्रभागीय न्यायाधीश” कहते है।  

SDM के कार्य

एक SDM के बहुत सारे कार्य होते है। जैसे

अपने क्षेत्र के लोगों की जमीन का रिकॉर्ड रखना नई जमीन खरीदने और जमीन बेचने पर उसका पुनः नामकरण करना।

जमीन से संबंधित विवादों का निपटारा करना।

तहसील के द्वारा जाति प्रमाण पत्र (SC/ST & OBC) जारी करना

वोटर ID कार्ड में लोगों का नाम जोड़ना।

अपने क्षेत्र में होने वाले क्राइम को रोकना तथा महिलाओं कि असमय मृत्यु पर पुलिस के द्वारा छानबीन करवाना और जल्दी से जल्दी अपराधी को पकड़वाना

घरेलू हिंसा को रोकना और माहिलाओ के अधिकारों कि रक्षा करना।

पुलिस कस्टडी में किसी कि मृत्यु होने पर उसकी छानबीन करवाना।

अपने क्षेत्र में होने वाले दंगा फ़साद को रोकना तथा आपदा के समय लोगों के जान माल की रक्षा करना।

DM और SDM में क्या अंतर होता है

DM का फुल फॉर्म डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट होता है DM का पद SDM के पद से बड़ा होता है।

SDM को अपने कार्यो का विवरण DM को देना होता है।

एक SDM 4-5 वर्षो की सर्विस के बाद DM पद पर प्रमोट होता है।

क्या एक डिस्ट्रिक्ट में एक से अधिक SDM हो सकते है?

जी हाँ, एक डिस्ट्रिक्ट में एक से ज्यादा SDM भी हो सकते है।   

SDM कैसे बने

SDM बनने के लिए आपको ग्रेजुएट होना बहुत जरुरी है उसके बाद आप दो तरह से SDM बन सकते है।

1. Union Public Service Commission, UPSC एग्जाम पास करके

2. स्टेट पब्लिक सर्विस कमीशन (SPCS) एग्जाम पास करके

SDM कि सैलरी कितनी होती है

SDM सरकार में बहुत ही ऊचा पद होता है SDM कि सैलरी 50000 से 1 लाख के बीच होती है और इसके साथ ही SDM को और भी बहुत सारी सुविधाए मिलती है। जैसे

रहने के लिए सरकारी बंगला।

सरकार कि तरफ से गाड़ी तथा सुरक्षा गार्ड।

सरकार कि तरफ से घर पर काम करने के लिए कर्मचारी।

सरकारी खर्चे पर वार्षिक यात्राये।

SDM बनने के लिए आयु सीमा

SDM बनने के लिए सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों की न्यूनतम आयु 21 वर्ष से 40 वर्ष होनी चाहिए। वहीं अन्य पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों की न्यूनतम आयु 21 वर्ष से 45 वर्ष होनी चाहिए।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में आपने जाना की SDM की फुल फॉर्म क्या होती है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow Us

Follow us on Facebook
error: Content is protected !!